Follow by Email

Sunday, October 11, 2015

तू है मेरा किनारा

ये दुनियाँ  बहती नदियाँ  है 
तू है मेरा किनारा 

यहाँ झरने है संगीत है 
मुहब्बत है, उम्मीद है 
तू इक ख्वाब है प्यारा 
तू है मेरा किनारा 

ये दुनियाँ  रौशन है  क्योंकि 
कुछ सितारें जल रहे है 
तेरी अच्छाई  तेरी बुराई 
तेरी जिंदगी का हर पहलू 
मुझे मेरा लगता है 
तू है मेरा सितारा 

'इश्क़' इक ख्वाब है राही का 
इक सुबह बिखर जायेगा 
कल को न जाने सफर
किस दरिया में ले जायेगा 
उमीदों से भरी ये रातें लम्बी है 
तू मेरे सपनो की सुबह है 
तू इक ख्वाब है प्यारा 
तू है मेरा किनारा 


 -रोशन कुमार "राहीं "

No comments :

Post a Comment