Follow by Email

Thursday, September 19, 2013

तसवीरें





तूने उसे  खोया मैंने तुझे खोया 
कुछ तो तेरी  बातों   ने रुलाया 
कुछ मै अपनी बेबसी पर रोया 
कही दर्द  ना हो तुझे मेरी आँखों  देखकर 
तेरी खुशियों खातिर मै मुस्कुरा कर रोया 
देख ना ले मुझे बेबस तू 
तेरी खातिर को खुद को मै 
तेरी बाहों में छिपा कर रोया 
तेरे नाम की दौलत दिल में भर कर आया था 
मेहकदों में सब कुछ लुटा कर  रोया 

जब तूने जाहिर किया शब्दो में
तुझे भी भी प्यार है मुझसे  
मै तुझको अपने साथ रुलाकर कर रोया 
तेरी तस्वीर को सीने से लगा कर  रोया 
होश था बीतें लम्हों में शायद 
मै शाकी के साथ लडखडा कर रोया 

कुछ जिंदगी की  बीती बातें  है
तेरे साथ गुजरे लम्हों की यादें है 
कभी तुझे भुलाकर तो
कभी अपना बनाकर रोया 
माना किसी और की अमानत है तू 
कुछ शिकवें दिल में जलाकर,
तो कुछ आखों  में सजाकर कर  रोया 
तेरी याद में खुद को भुला कर  रोया 
अब यादो में आना छोड़ दे मेरे 
कुछ अपने दिल को समझा कर 
तो कभी तेरे  शहर से दूर जाकर जा कर  रोया

 ,,,,,,,,,,,,,,,,roshAn”